कोरबा

कलेक्टर संजीव झा कदमझरिया और छातासरई के पहाड़ी कोरवाओं के बीच पहुंचे

शिविर लगाकर जनजाति सदस्यों के जाति प्रमाण पत्र और वन अधिकार पट्टा बनाने के दिए निर्देश

 

जनजाति सदस्यों को स्वावलंबी बनाने बकरी पालन, मुर्गीपालन, मधुमक्खी पालन और सब्जी उत्पादन के काम में जोड़ने के भी दिए निर्देश

कोरबा/कलेक्टर संजीव झा ने आज विकासखण्ड कोरबा के दूरस्थ वनांचलों में स्थित ग्राम कदमझरिया और ग्राम छातासरई पहुंचकर वहां निवासरत् पहाड़ी कोरवा जनजाति के सदस्यों से मुलाकात की। कलेक्टर ने वनांचल क्षेत्र में पहुंचकर ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाई। उन्होंने पहाड़ी कोरवा सदस्यों से उनकी बसाहटों में बिजली, पानी, आवास के साथ-साथ रोजगार के बारे में जानकारी ली। उन्होंने शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में भी विस्तार से पूछा। कलेक्टर श्री झा ने जाति प्रमाण पत्र और वन अधिकार पट्टा से वंचित पहाड़ी कोरवा सदस्यों का शिविर लगाकर राशन कार्ड, आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र और वन अधिकार पट्टा बनाने के निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने जनजातीय सदस्यों को स्वरोजगार से जोड़कर विकास की मुख्य धारा में शामिल करने के निर्देश अधिकारियो को दिए। उन्होंने पहाड़ी कोरवाओं को स्वरोजगार प्रदान करने के लिए मुर्गीपालन, मधुमक्खी पालन, सब्जी उत्पादन तथा मशरूम उत्पादन जैसे कामों से जोड़ने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर ने महिलाओं के समूह बनाकर उनको बकरी पालन करने के लिए प्रोत्सहित करने और पशुधन विकास विभाग की ओर से सरकारी सहायता देने के निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिए। कलेक्टर श्री झा ने कदमझरिया में निवासरत पहाड़ी कोरवा परिवारों को राशन लेने के लिए दूर ना जाना पड़े इसके लिए सभी हितग्राहियों के राशन को कदम झरिया में ही वितरित करवाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने राशन और पेंशन की सुविधाओं से सभी लोगों को जोड़ने के लिए कैम्प लगाकर सभी पात्र लोेगों के राशन कार्ड और पेंशन प्रकरण बनाने के भी निर्देश अधिकारियों को दिए। कलेक्टर श्री झा ने छातासराई के आंगनबाड़ी केंद्र का भी निरीक्षण किया। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र में सभी जरूरी सुविधाओं को सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूतन कंवर, एसडीएम कोरबा हरिशंकर पैंकरा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्रीमती माया वॉरियर सहित अन्य विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहे।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!