महासमुंद

नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने कहा ,छत्तीसगढ़ के ध्येय वाक्य विश्वास, विकास, सुरक्षा के अनुरूप कार्य करना हमारी प्राथमिकता।

जनदर्शन द्वारा तुहर पुलिस तुहर द्वार के माध्यम से आम जनों तक जाना व उनके शिकायतों का त्वरित निराकरण करना।

जनदर्शन द्वारा तुहर पुलिस तुहर द्वार के माध्यम से आम जनों तक जाना व उनके शिकायतों का त्वरित निराकरण करना।

सभी प्रकार की अवैध गतिविधिया गांजा, अवैध शराब, जुआ-सट्टा आदि पर सख्त-सख्त कार्यवाही व अपराध का त्वरित निकाल किया जायेगा।

 जिला दो राष्ट्रीय राज्यमार्ग व राजकीय मार्ग से जुड़ा है व शहरी क्षेत्र भी है जिस हेतु यातायात व्यवस्था दूरूस्त करने हेतु विशेष प्रयास किया जायेगा।

समुदायिक पुलिसिंग पर विशेष जोर दिया जायेगा व सभी आयु वर्ग के लोगों के अनुरूप समुदायिक पुलिसिंग की जायेगी।

महासमुंद। आज दिनांक 11.07.2022 को जिलें के नवपदस्थ पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल भा.पु.से.-2013 द्वारा पुलिस अधीक्षक महासमुंद के पद पर पदभार ग्रहण किया गया।  भोजराम पटेल मूलतः छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिलें के निवासी है वे वर्ष 2013 में भा.पु.से. में चयनित होकर कांकेर, गरियाबंद, कोरबा में पुलिस अधीक्षक के पद पर व माननीय राज्यपाल के ए.डी.सी. के रूप में भी अपनी सेवाऐं दे चुंके। पुलिस अधीक्षक द्वारा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पदस्थ समस्त अधिकारी/कर्मचारियों से मिलकर उनके कर्तव्य के बारे में जाना व बाद में जिला के समस्त मीडिया के पत्रकार बंधुओ से भेट कर परिचय प्राप्त किया। जिसपर पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारो से कहा की अब महासमुंद जिलें में विश्वास, विकास, सुरक्षा को ध्येय मानकर पुलिसिंग की जायेगी। विजिबल पुलिसिंग पर जोर दिया जायेंगा व जो आदतन अपराधी है उनके उपर सख्त से सख्त कार्यवाही की जायेगी व जो आम नागरिक है उनसे आपसी समांजस्य स्थापित कर समुदायिक पुलिसिंग की जायेगी। जिससे जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा। पुलिस द्वारा आसूचना तंत्र को मजबूत किया जायेग ताकि हर छोटी सी छोटी चीजो की जानकारी समय पर मिल पायें और अवैध मादक पदार्थ गांजा, अवैध शराब, जुआ-सट्टा खेलने व खेलाने वालो पर कठोरतम कार्यवाही की जायेगी।


पुलिस अधीक्षक द्वारा कहा गया कि वर्तमान में सायबर फ्राड़ व ठगी के मामले बढ़ते जा रहे है और सोशल मीडिया में भी अपराधों के बहुत से प्रकार दिख रहे है। जिनका रोकथाम हेतु सायबर जागरूकता हेतु विशेष कर्यक्रम चलाया जायेगा व सायबर मामलो में विवेचना हेतु अधिकारियों को इसकी ट्रेनिंग की जायेगी। इसी क्रम में स्कूल के बच्चों को जानकारी देने हेतु खाकी के रंग-स्कूल के संग का एक विशेष कार्यक्रम चलाया लायेगा व बच्चो को अपराध से बचने व क्या करे, क्या न करें की जानकारी दी जायेगी। पुलिस अधीक्षक द्वारा कह भी कहा गया कि पुलिस अधीक्षक कार्यालय में अति. पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में नवाचार करते हुये पीड़ित क्षतिपूर्ति सेल व फैमली काउंसलिंग सेंटर की भी स्थापना की ताकी पीड़ितो को जल्द से जल्द राहत पहुचाया जा सके। इस दौरान अति.पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेम्भुरकर एवं अनु.अधि.(पु) महासमुंद सुश्री कल्पना वर्मा, डी.एस.पी. यातायात राजेश देवांगन व कार्यलय में उपस्थित जिला कार्यालय के शाखा प्रभारियों व कर्मचारी आदि उपस्थित थें।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!