कोरबा

राष्ट्रीय बालिका दिवस : डिजिटल साक्षरता विषय से कराया गया अवगत

भारत स्काउट्स एवं गाइड्स, कोरबा का वेबिनार

 

कोरबा/  जनवरी को भारत स्काउट्स एवं गाइड्स, कोरबा जिला द्वारा राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर डिजिटल साक्षरता विषय पर वेबिनार आयोजित किया गया। पुलिस, यूनिसेफ, विधि, शैक्षिक क्षेत्र के विशेषज्ञों ने अपना व्याख्यान दिया।

जिला मुख्य आयुक्त मोहम्मद सादिक शेख ने स्वागत उद्बोधन देते हुए डिजिटल साक्षरता विषय के उद्देश्य प्रकाश डाला। जिला पुलिस विभाग, कोरबा के साइबर सेल के एसआई कृष्णा साहू ने बताया कि डिजिटल साक्षर होने के साथ इसके प्रति सुरक्षित भी होना होगा। इंटरनेट का सुरक्षित इस्तेमाल कैसे किया जाए, पीपीटी के माध्यम से इसकी जानकारी दी। वेबपेज सिक्योर या नहीं इसका पता कैसे करें, सोशल मीडिया के सिक्योरिटी टिप्स और इसके सकारात्मक एवं नकारात्मक प्रभाव की विस्तार से जानकारी दी। साइबर क्राइम के बारे में भी बताया।

यूनिसेफ की राज्य सलाहकार नेहा सिंह ने कहा कि डिजिटल प्लेटफार्म अच्छा है तो हानिकारिक भी। इसके सुरक्षित उपयोग के 5 गोल्डन रूल्स की जानकारी दी। महिला सशक्तिकरण को और अच्छे से समझने पर जोर दिया। नेहा सिंह ने लिंग भेद एवं मानसिक व शारीरिक बदलाव के बारे में विस्तार से बताया। वरिष्ठ अधिवक्ता रंजना दत्ता ने कहा कि डिजिटलाइजेशन के साथ क्राइम भी हाइटेक हो रहे हैं। डिजिटल साक्षर होने का लाभ यह होता है ऑनलाइन शिकायतें दर्ज कराई जा सकी हैं। रंजना दत्ता ने बालिकाओं से जुड़े कानून और विभिन्न धाराओं की जानकारी दी। यूनिसेफ के स्टेट मिशन कोऑर्डिनेटर अभिषेक त्रिपाठी ने कहा कि डिजिटल के सकारात्मक इस्तेमाल से बदलाव की नई लाइन खिंची जा सकती है।

 

कोविड महामारी के दौरान टीकाकरण एवं इसके प्रति जागरूकता लाने पर जोर दिया गया। भारत स्काउट्स एवं गाइड्स की राज्य संगठन आयुक्त (गाइड) डा. करूणा मसीह ने कहा कि इंटरनेट के नुकसान से बचने इसके प्रति साक्षर होना बेहद जरूरी है। उन्होंने फ्री बिइंग मी के जरिए व्यक्तित्व का विकास कैसे करें, इसके बारे में बताया। जिला आयुक्त (गाइड) प्राचार्य डा. फरहाना अली ने कहा कि डिजिटल तरीके से अपडेट रहकर लिंग भेद से भी लड़ा जा सकता है। प्राचार्य अनिता ओहरी ने कहा कि वर्तमान दौर में डिजिटल साक्षर नहीं होना निरक्षर होने के बराबर है। स्काउट गाइड, कोरबा के डिजिटल एक्सपर्ट भूपेन्द्र वर्मा ने सर्फ स्मार्ट की जानकारी देते बताया कि हैकर्स किस तरह से सक्रिय रहते हैं और इनसे कैसे सुरक्षित रहा जा सकता है। वेबिनार का संयोजन संयुक्त रूप से एचडब्ल्यूबी गाइड केप्टिन पुष्पा शांडिल्य एवं सीनियर रेंजर अंजलि तिवारी ने किया। आभार डीओसी (गाइड) उत्तरा मानिकपुरी ने व्यक्त किया। वेबिनार से कोरबा जिले सहित राज्य के अन्य जिलों से बालिकाओं, युवतियों एवं अन्य लोगों ने बड़ी संख्या में भागीदारी की।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!