कोरबा

हरदीबाजार तरदा बाईपास सड़क मुआवजा प्रकरण के दोषी भू-माफियाओं पर होगी एफआईआर

कलेक्टर श्रीमती साहू ने पुलिस अधीक्षक को कार्रवाई के दिये निर्देश

कोरबा / हरदीबाजार-तरदा बाईपास सड़क के लिए ज़मीन अधिग्रहण के मुआवजा प्रकरण में अनियमितता और एक ही भूमि को हिस्से कर बार-बार खरीदी बिक्री करने वाले भू-माफियाओं पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजा है।

उल्लेखनीय है कि हरदीबाजार-तरदा बाईपास सड़क बनाने के लिए किसानों की जमीन अधिग्रहित की गई थी। भू-माफियाओं द्वारा एक ही जमीन को छोटे छोटे हिस्सो में कई बार बेचने,  भूमि अधिग्रहण के मामले में अनियमितता और मुआवजा प्रकरणों में नियमों की अनदेखी की कई शिकायतें कलेक्टर को मिली थी। शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर ने इसकी जांच कराई थी। जांच में सामने आया है कि भूमि अधिग्रहण के मामलों में भू-राजस्व संहिता व अधिग्रहण नियमों की भारी अनदेखी की गई है। नियमों के विरुद्ध पांच हजार स्क्वेयर फ़ीट से कम रकबे का अधिग्रहण दिखाकर बढ़े मुआवजे के प्रकरण स्वीकृत किये गए हैं। इसके साथ ही ऐसे कई खसरों की भूमि को भी अधिग्रहित किया गया है, जो बाईपास सड़क सीमा में नहीं आती है। अधिग्रहण के नियमों के उलंघन और मुआवजा प्रकरण में अनिमितता के कारण शासन को भारी राजस्व हानि उठानी पड़ी है। पूरे प्रकरण की शिकायत कई बार कलेक्टर व उच्च अधिकारियों से की गई थी जिस पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर ने जांच कराई थी। अब कलेक्टर ने दोषी भू-माफियाओं के विरुद्ध एफआईआर करने के लिए पुलिस अधीक्षक को भी निर्देशित किया है।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!