कोरबा

होम आइसोलेशन में तेजी से ठीक हो रहे कोविड मरीज, रिकवरी रेट 95 प्रतिशत

होम आइसोेलेशन में एक्टिव केस 258, होम आइसोलेशन में नहीं हुई किसी की मृत्यु

 

कोरबा/कलेक्टर श्रीमती रानू साहू के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन द्वारा कोविड संक्रमण के रोकथाम के लिए लगातार बेहतर कार्य किये जा रहे हैं। जिले में विकसित किए गए बेहतर स्वास्थ्य संसाधन  और कोविड मॉनिटरिंग तंत्र के द्वारा कोविड मरीज तेजी से ठीक हो रहे हैं। कोविड मरीजों के तेजी से स्वस्थ होने के कारण जिले में होम आइसोलेटेड मरीजों के रिकवरी दर वर्तमान में 95 प्रतिशत है। एक जनवरी 2022 से अभी तक किसी भी कोविड मरीज की मृत्यु होम आइसोलेशन में नहीं हुई हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड मरीजों के स्वास्थ्य निगरानी और समय पर मरीजों को दवाईयों के किट वितरण से मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से  सुधार हो रहा हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले 7 हजार 400 से अधिक मरीजों को दवाईयां का किट दिया जा चुका हैं। बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं और ईलाज से 7 हजार 190 मरीज होम आइसोलेशन से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किये जा चुके हैं। वर्तमान में केवल 258 एक्टिव मरीज होम आइसोलेशन में हैं। होम आइसोलेशन वाले मरीजों को दवाईयों के साथ आक्सीमीटर और थर्मामीटर की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा रही है।
स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार एक जनवरी से अभी तक सर्वाधिक रिकवरी दर नगर निगम कोरबा और विकासखण्ड पाली क्षेत्र में रही है। इन दोनों क्षेत्रों में 96 प्रतिशत रिकवरी दर हैं। कोरबा नगर क्षेत्र में सर्वाधिक चार हजार 562 और पाली क्षेत्र में 540 कोविड मरीज ठीक होने के बाद होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किए गए हैं। इसी प्रकार कटघोरा में 95 प्रतिशत, करतला में 94 प्रतिशत, कोरबा ग्रामीण में 91 प्रतिशत एवं पोड़ी-उपरोड़ा क्षेत्र में 84 प्रतिशत रिकवरी दर हैं। विकासखण्ड कटघोरा में 808, कोरबा ग्रामीण में 488, करतला में 460 एवं विकासखण्ड पोड़ी-उपरोड़ा में 332 कोविड संक्रमित मरीज होम आइसोलेशन से स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button