जांजगीर-चाँपा

अखिल भारतीय कविसम्मेलन व मुशायरा तथा ‘शाम-ए-ग़ज़ल’ का हुआ आयोजन

जाँजगीर-चाँपा/ राज्य शासन के मंशानुसार छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी द्वारा उर्दू भाषा, साहित्य एवं संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश के कवि व शायरों, को मंच प्रदान करने एवं उनके हुनर को सामने लाने हेतु प्रयास किया गया था ।
इस लिहाज से कल 23 मार्च बुधवार को हॉटल मयंक में “शाम-ए-ग़ज़ल” शाम 6 बजे से तथा अखिल भारतीय कवि सम्मेलन एवं मुशायरा का आयोजन रात्रि 8 बजे से रखा गया था ।
इस मुशायरे शाम-ए-ग़ज़ल में मोहसीन अली रायपुर, मुमताज़ नसीम दिल्ली, गोविंद राठी मध्यप्रदेश, मंयक शर्मा दुर्ग, संतोषी महंत “श्रद्धा” कोरबा, अनीस अरमान सक्ती, अमित दुबे झारसुगुड़ा शिरकत करेंगे तथा शाम-ए-ग़ज़ल में परन राज भाटिया एवं टीम भिलाई ग़ज़ल प्रस्तुत किया गया ।

इस कार्यक्रम के पूर्व शाम 4 बजे से शाम 6 बजे तक जिले के कवि, शायर, शायरा व नातगो तथा संगीतकारों को भी अपना हुनर दिखाने का मौका दर्शकों को दिखाया गया ।
इस “शाम-ए-ग़ज़ल” और “अखिल भारतीय कवि सम्मेलन व मुशायरा” को सफल बनाने के लिए साहित्यकार विजय राठौर और सुरेश पैगवार के साथ वरिष्ठ साहित्यकार ईश्वरी यादव, डॉ बलदेव शर्मा, भैयालाल नागवंशी, संतोष कश्यप, शायर महेंद्र राठौर, अनीश अरमान, मुकेश सिंघानिया, जनाब सलीम मेमन, रफीक सिद्दकी, गुलबुद्दीन खान, आबिद खान, गीतकार प्रमोद आदित्य, नजीब रिजवी, सजलकार दिनेश रोहित चतुर्वेदी, रमेश सिंघानिया, दयानंद गोपाल, आनंद पाण्डेय, यशवंत सूर्यवंशी, चर्चित युवा कवि उमाकान्त टैगोर, संतोषी महंत ‘श्रद्धा’, अंकित राठौर, गौरव राठौर, यूनिषा टण्डन, मुबारक खान, माजित खान, रहमत खान, हैदर खान, मेहरबान खान, अतहर खान, राजकिशोर धिरही, उमेशकान्त, उमेश यादव, विनय यादव, राघवेंद्र शर्मा, अमित मधुकर, रोहित सोनी,अहिबरन पटेल, सफल बनाने हेतु लगे हुए थे ।

+ posts
Back to top button
error: Content is protected !!