IMG-20230125-WA0035
IMG-20230125-WA0037
IMG-20230125-WA0038
कोरबा

आकांक्षी जिला कोरबा के प्रभारी अधिकारी ने सरईडीह के गौठान में पहुंचकर आजीविका गतिविधियों का लिया जायजा

कोरबा/ भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के संयुक्त सचिव एवं आकांक्षी जिला कार्यक्रम अंतर्गत कोरबा जिला के प्रभारी अधिकारी रघुराज माधव राजेंद्रन ने कलेक्टर रानू साहू की मौजूदगी में आज कोरबा ब्लॉक के ग्राम पंचायत पहंदा के सरईडीह गौठान का दौरा किया। उन्होंने गौठान में चल रही आजीविका गतिविधियों के संबंध में स्वसहायता समूह की महिलाओं से जानकारी ली। गौठान में कार्यरत स्वसहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि वे गौठान में मुर्गीपालन, खरगोश पालन, चारा उत्पादन, सब्जी उत्पादन, बतख पालन, बटेर पालन एवं वर्मी कम्पोस्ट निर्माण कर रही हैं जिससे उनकी आमदनी बढ़ी है। संयुक्त सचिव श्री राजेंद्रन ने गौठान में महिलाओं द्वारा किए जा रहे आजीविका गतिविधियों का जायजा लिया। उन्होंने गौठान में महिलाओं द्वारा किए जा रहे वर्मी कम्पोस्ट निर्माण, मछली पालन, सब्जी -बाड़ी एवं मशरूम उत्पादन शेड का अवलोकन किया। साथ ही स्थानीय स्तर पर उत्पादित काजू और ब्लैक राइस का भी अवलोकन किया। राजेंद्रन को कोरबा में उत्पादित काजू और ब्लैक राइस काफी पसंद आया। गौठान की महिलाओं ने काजू और ब्लैक राइस को उपहार स्वरूप संयुक्त सचिव को भेंट किया। इस पर राजेंद्रन ने स्थानीय तौर पर उत्पादित ब्लैक राइस और काजू दोनों के खरीदी कीमत भी चुकाए। संयुक्त सचिव राजेंद्रन ने सरईडीह गौठान में ड्रिप एरिगेशन सुविधा, सोलर पंप, मल्चिंग के संबंध में भी जानकारी ली। कृषि विभाग के उपसंचालक श्री अनिल शुक्ला ने बताया कि गौठान में ड्रिप एरिगेशन और सोलर पंप की सुविधा उपलब्ध है। इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  नूतन कंवर, संयुक्त कलेक्टर श्री ममता यादव, एसडीएम कोरबा  हरिशंकर पैंकरा सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

संयुक्त सचिव राजेंद्रन ने महिलाओं द्वारा आजीविका के लिए संचालित किए जा रहे विभिन्न गतिविधियों की जानकारी ली। इस दौरान संयुक्त सचिव ने ग्रामीणों के साथ वृक्षारोपण भी किया। राजेंद्रन ने गौठान में पहुंचकर बत्तख पालन के लिए विकसित किए गए तालाब में बत्तखों को दाना खिलाया। उन्होंने करूणा और सहेली स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा किए जा रहे मछली पालन का भी अवलोकन किया। उन्होंने स्वसहायता समूह की महिलाओं से गौठान के माध्यम से हो रही आमदनी के बारे में भी जानकारी ली। स्वसहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि गौठान में चल रही विभिन्न गतिविधियों से नियमित आमदनी हो रही है। गौठान में लगभग 12 स्वसहायता समूह की 70 से अधिक महिलाएं काम कर रही हैं। महिलाओं ने बताया कि समूहो द्वारा अभी तक एक लाख 43 हजार रूपए से अधिक का वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन किया जा चुका हैं। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूतन कंवर ने बताया कि लगभग 13 एकड़ में संचालित सरईडीह गौठान में स्वसहायता समूह की महिलाएं विभिन्न आजीविका गतिविधियों से जुड़कर लाभ ले रहे हैं। संयुक्त सचिव ने किसानों को कृषि उपकरण और गौठान से जुड़ी महिलाओं को मक्का बीज का  वितरण भी किया। राजेंद्रन ने सरईडीह गौठान में बने कोटना, पशु शेड, मुर्गीपालन शेड, चरवाहा कक्ष आदि का निरीक्षण किया। राजेंद्रन गौठान में मछली पालन और बतख पालन के रोजगार मूलक काम से काफी प्रभावित हुए। उन्होंने इस काम में लगे स्वसहायता समूह की महिलाओं से भी बातचीत की।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!