रायपुर

एशिया आर्ट फेस्टिवल 2022 का हुआ आगाज़

लाईव पेंटिंग कर छत्तीसगढ़ के कलाकार ने दर्शाया अद्भुत ताल मेल

कला और संस्कृति के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ विश्व पटल पर अपना लोहा मनवा रहा है. इसी क्रम में कला के सबसे बड़े उत्सव एशिया आर्ट फेस्टिवल का आगज़ हो चुका है।एशिया आर्ट फेस्टिवल के द्वारा उद्धघाटन स्वागत समारोह का आयोजन किया गया जिसमें फेस्टिवल के निर्देशक ईशान भल्ला के द्वारा प्रेस-वार्ता कर एशिया आर्ट फेस्टिवल के बारें में विस्तृत जानकारी दी गयी।

निर्देशक ईशान भल्ला ने कहा की “इस का उद्देश्य हमारी कला और संस्कृति के बहुमूल्य विरासत को संरक्षित करना है . एक कलाकार होने के नाते मैं इस कला महोत्सव के माध्यम से कलाकारों और उनके काम को प्रोत्साहित और सशक्त करना चाहता हूं, जिसके लिए मैं और मेरी पूरी टीम प्रतिबद्ध है” ।

ईशान ने आगे कहा कि यह उद्धघाटन समारोह एशिया आर्ट फेस्टिवल की शुरुआत हैं और मैं लोगों को आमंत्रित करता हूं कि वे 1 और 2 अप्रैल को गौरव गार्डन स्तिथ इस आयोजन में ज्यादा से ज्यादा संख्या में आये और कलाकरों का मनोबल बढ़ाकर हमें अनुग्रहित करें।

एशिया आर्ट फेस्टिवल देश भर के कलाकारों को एक वैश्विक मंच प्रदान करने के लिए की गई एक पहल है,जहां विभिन्न क्षेत्रों के उभरते कलाकारों को अपने कला का प्रदर्शन करने का सुनहरा अवसर मिला है।

फेस्टिवल के उद्धघाटन समारोह में कुछ कलाकारों के द्वारा अपनी कलाकृतियों को एशिया आर्ट फेस्टिवल के ट्रेलर के रूप में प्रदर्शित किया गया। उद्धघाटन समारोह में मीडिया,ब्लोग्गेर्स,प्रदर्शकों और कुछ गणमान्य लोग मौजूद रहे।

इस आर्ट फेस्टिवल में कला,शिल्प,फोटोग्राफी,नृत्य और संगीत जैसे रचनात्मक क्षेत्रों का भरपूर प्रदर्शन होगा।

एशिया आर्ट फेस्टिवल 1 और 2 अप्रैल को रायपुर स्तिथ गौरव गार्डन में आयोजित होगा।दो दिन तक चलने वाले इस एशिया आर्ट फेस्टिवल में 100+ कलाकार,50+ब्रांड और 10+संस्थान शामिल होंगे। इसके साथ ही पेंटिंग्स,हस्तशिल्प,डिजिटल कला,मूर्तिया जैसे कलाओं को प्रदर्शित किया जाएगा.

इसके अलावा कार्यक्रम में लाइव कंसर्ट्स भी होना है जिसमें जस्सी गिल,कुतले खान,बब्बल राय जैसे दिग्गज कलाकार परफॉर्म करेंगे।

एशिया आर्ट फेस्टिवल के निर्देशक ईशान भल्ला को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस पहल के लिए बधाई दी है और कहा है की छत्तीसगढ़ की राजधानी में एशिया कला महोत्सव 2022 का मेजबानी कर के हम सम्मान्ति महसूस कर रहे है।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button