कोरबा

कनकी के झिंगाही व पुरैनाखार तालाब में रासेयो ने चलाया स्वच्छता अभियान

 

जल संरक्षण हमारा सामाजिक व आध्यात्मिक कर्तव्य है जिससे देश की गति व प्रगति निर्धारित होती है युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत युवाओं के माध्यम से सरोवरों को संरक्षित करने का अभियान चलाया है इसी कड़ी में अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के रासेयो कार्यक्रम समन्वयक डॉ मनोज सिन्हा के मार्गदर्शन व रासेयो जिला संगठक वाय के तिवारी के निर्देशन में के एन कॉलेज व शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कनकी के 30 रासेयो स्वयंसेवकों ने ग्राम कनकी के झिंगाही व पुरैना खार तालाब में स्वच्छता अभियान चलाने हेतु पसीना बहाया स्वयंसेवकों ने घाटों की सफाई की व तालाब के भीतर उतरकर खरपतवारों, कटीली झाड़ियों, प्लास्टिक आदि रैपर, पूजा सामग्री, जूता चप्पल, बड़ी मात्रा में डाले गए कांच की बोतलों व अन्य सामाग्री को बाहर निकाला ताकि तालाब में स्नान करने व सामाजिक कार्यों के लिए आने वाले लोगों को निर्मल व स्वच्छ जल मिल सके।

शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कनकी के कार्यक्रम अधिकारी एस आर यादव के नेतृत्व में स्वयंसेवकों को जिला संगठक वाय के तिवारी के द्वारा शिथिलीकरण व योग के विभिन्न आसनों का अभ्यास कराया गया। युवाओं को जन जन तक योग का संदेश पहुंचाने तथा स्वस्थ जीवन शैली के लिए योग को अपनाने हेतु एंबेसडर के रूप में प्रशिक्षित किया गया।

डिजिटल अर्थव्यस्था हेतु दिलाई शपथ —
डिजिटल अर्थव्यवस्था के निर्माण में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है इस हेतु प्रत्येक रासेयो स्वयंसेवकों को 10 अन्य लोगों को डिजिटल साक्षर करने तथा लेनदेन में मोबाइल एप आदि माध्यमों का उपयोग करने की शपथ दिलाई ताकि देश की ग्रामीण अर्थव्यवस्था की आर्थिक मजबूती का अनुमान लगाया जा सके।

जैव विविधता संरक्षण दिवस के अवसर पर आयोजित दिवा शिविर में रासेयो स्वयंसेवकों को प्रकृति में पाए जाने वाले विभिन्न प्रकार के जीवों की आवश्यकता, उनका साझा भविष्य तथा उनकी समृद्धि व सुदृढ़ता से धरती की अक्षुणता को बनाए रखने के लिए कार्य करने हेतु प्रेरित किया गया। दिवा शिविर के आयोजन में कनकेश्वर युवा समिति के यशवंत राजवाड़े, दिनेश राजवाड़े आदि ने स्वयंसेवकों के साथ श्रमदान में सहभागिता करते हुए उनका मनोबल बढ़ाया।

दिवा शिविर के आयोजन में कमला नेहरू महाविद्य के प्राचार्य कनकी स्कूल के प्राचार्य एस आर खरे ,वरिष्ठ स्वयंसेवक शनिदेव खूंटे, शाश्वत शर्मा ,तृप्ति राजवाड़े, नागेश राजवाड़े, जय कश्यप, प्रशांत राजवाड़े, अमित, वैष्णवी, भूमिका, भावना, प्रतिभा आदि की सराहनीय भूमिका रही।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button