IMG-20230125-WA0035
IMG-20230125-WA0037
IMG-20230125-WA0038
कोरबा

केवल 14 हजार किसानों से धान खरीदना बाकी, अगले आठ दिनों में लक्ष्य अनुसार पूरी होगी धान खरीदी

अब तक 11 लाख 79 हजार 378 क्विंटल धान की खरीदी हुई

अगले आठ कार्य दिवस में लक्ष्य पूर्ति के लिए कार्य योजना तैयार

कोरबा/ कोरबा जिले में एक दिसंबर 2021 से शुरू हुई धान खरीदी में अब तक 26 हजार 437 पंजीकृत किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी कर ली गई है। आज की स्थिति में जिले के केवल 14 हजार 035 पंजीकृत किसानों द्वारा धान बेचना बाकी है। जिले में 31 जनवरी 2022 की निर्धारित तिथि तक लक्ष्य अनुसार सभी 40 हजार 472 पंजीकृत किसानों से धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर समितियों में कर ली जायेगी। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज समय सीमा की साप्ताहिक बेैठक में जिले में धान खरीदी की समीक्षा की। उन्होंने अगले शेष बचे आठ कार्य दिवसों में लक्ष्य अनुसार धान खरीदी के लिए कार्य योजना पर चर्चा की। जिले जिले में अब तक 26 हजार 437 किसानों का 228 करोड़ 80 लाख रूपए से अधिक का धान खरीदा जा चुका है। जिले के किसानों से अब तक 11 लाख 79 हजार 378 क्विंटल धान सहकारी समितियों द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदा जा चुका है। इस वर्ष कोरबा जिले में पंजीकृत किसानों से लगभग 15 लाख 40 हजार क्विंटल धान खरीदने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। निर्धारित लक्ष्य के हिसाब से अगले आठ दिनों में लगभग तीन लाख 60 हजार क्विंटल धान 55 उपार्जन केन्द्रों में खरीदा जायेगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने अपनी कार्य योजना भी तैयार कर ली है।
जिला खाद्य अधिकारी जितेन्द्र सिंह ने बताया कि कोरबा जिले में प्रतिदिन औसतन 50 हजार क्विंटल धान खरीदी किसानों से की जा रही है। इस हिसाब से अगले आठ दिनों में निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति कर ली जायेगी। धान खरीदी केंद्रों से लगातार धान का उठाव भी कराया जा रहा है। श्री सिंह ने बताया कि पिछले दिनों बेमौसम बारिश के कारण धान खरीदी और उठाव कुछ धीमा पड़ा था, लेकिन अब मौसम ठीक होने के बाद उठाव भी तेजी से हो रहा है। जिले में अभी तक लगभग 70 प्रतिशत धान का उठाव कर लिया गया है। अगले आठ दिनों में खरीदी के साथ-साथ समितियों से धान उठाव को भी तेज किया जायेगा। श्री सिंह ने बैठक में आश्वस्त किया कि धान खरीदी या उठाव में अभी तक कोई परेशानी नहीं है। बारदाना भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है और 31 जनवरी तक लक्ष्य अनुसार धान की खरीदी कर ली जायेगी।

जिले के 55 धान खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर किसानों से 18 जनवरी तक 11 लाख 79 हजार 378 क्विंटल धान खरीदा जा चुका है। इसमें से दस लाख 64 हजार 302 क्विंटल मोटा और एक लाख 13 हजार 928 क्विंटल सरना और एक हजार 148 क्विंटल पतला धान शामिल है। जिले में अभी तक मिलरों द्वारा कुल खरीदे गए धान में से लगभग 70 प्रतिशत धान का उठाव कर लिया गया है। मिलर्स ने खरीदी केन्द्रों से आठ लाख 14 हजार 262 क्विंटल से अधिक धान उठा लिया है। जिले के खरीदी केन्द्रों से सात लाख 14 हजार 722 क्विंटल मोटा और 99 हजार 540 क्विंटल सरना धान का उठाव मिलरों द्वारा कर लिया गया है। जिले में 19 जनवरी को धान बेचने के लिए एक हजार 552 किसानों को टोकन जारी किए गए हैं। इन किसानों से लगभग 74 हजार क्विंटल धान की खरीदी की जाएगी।

बुधवार को खरीदी केन्द्रों पर एक हजार 552 किसानों से खरीदा जाएगा लगभग 74 हजार क्विंटल धान- 19 जनवरी को एक हजार 552 किसानों को धान बेचने के लिए उपार्जन केन्द्रों से टोकन जारी कर दिए गए हैं। इन किसानों से लगभग 74 हजार क्विंटल से अधिक धान समर्थन मूल्य पर खरीदा जाएगा। बुधवार को धान खरीदी केन्द्र अखरापाली में 51, उतरदा में 40, कटघोरा में 21, कनकी में 37, करतला में 22, केरवाद्वारी में 29, कुलहरिया में 33, कोथारी में 49, कोरकोमा में 40, कोरबी पाली में 45, पोड़ी-उपरोड़ा कोरबी में 48, चैतमा में 40, चिकनी पाली में 28, लबेद में 14, छुरीकला में 21, सुमेधा में 13 एवं जटगा में 23 किसान समर्थन मूल्य पर धान बेचेंगे।

धान खरीदी केन्द्र जटगा तुमान में 08, जवाली में 27, रंजना में 08, तुमान में 40, तिलकेजा में 11, दुरपा में 22, नवापारा में 34, बेहरचुंआ में 43, निरधि में 33, पठियापाली में 31, पसान में 25, लैंगा में 10, नुनेरा में 08, पाली में 51, पिपरिया में 16, पोड़ी में 20, पोड़ी-उपरोड़ा में 13, फरसवानी में 42, बरपाली कोरबा में 36, बरपाली में 44, बिंझरा में 31, कुदुरमाल में 18 एवं भैंसमा में 43 किसानों ने धान बेचने के लिए टोकन कटाया है। इसी प्रकार धान खरीदी केन्द्र भिलाई बाजार में 38, मोरगा में 14, रामपुर में 32, लाफा में 23, सपलवा में 09, श्यांग में 28, उमरेली में 21, सुखरीकला में 21, सिरमिना में 52, दादरखुर्द में 12, सोनपुरी में 28, सोहागपुर में 35, कराईनारा में 22, नोनबिर्रा में 21 एवं हरदीबाजार में 28 किसानों को धान बेचने के लिए टोकन जारी किया गया है।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!