कोरबा

कोविड वेक्सीनेशन महाभियान: एक दिन में 50 हजार 910  लोगों को लगी कोविड वैक्सीन

वैक्सीनेशन सेंटरों में युवा, महिला, किसान, बुजुर्ग उत्साहित होकर पहुंचे वैक्सीन लगवाने

456 वैक्सीनेशन सेंटरों में 514 वैक्सीनेटरों द्वारा लगाया गया टीका
मनरेगा स्थल सहित बस स्टैण्ड और घर-घर जाकर भी लगाया गया कोविड वैक्सीनेशन
कोरबा /कोरबा जिले में कोविड-19 के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए पांच फरवरी को टीकाकरण का महाभियान चलाया गया। इस दौरान सुबह से ही शहरी और ग्रामीण इलाकों के टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए बड़ी संख्या में लोग लाईन में लगे रहे। ग्रामीण इलाकों में टीकाकरण केन्द्रों के अलावा मोबाईल मेडिकल टीमों ने भी घर-घर जाकर लोगों को कोविड से बचाने के लिए टीके लगाये। इस महाभियान में एक दिन में  50 हजार 910 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। कोविड वैक्सीन लगवाने के लिए 15 वर्ष से अधिक उम्र के किशोर-किशोरियों, युवाओं, महिला, किसान एवं बुजुर्ग लेाग भी उत्साहित होकर टीकाकरण स्थल तक पहुंचे। वैक्सीनेटरों द्वारा लोगों को मनरेगा कार्य स्थल पर भी पहुंचकर टीका लगाया गया। विकासखंड पोड़ी-उपरोड़ा के ग्राम हरदेवा और तनेरा में चल रहे मनरेगा के कार्य स्थल में ही लोगों को जरूरत अनुसार कोविड का पहला और दूसरा वैक्सीन लगाया गया। इसी प्रकार बिंझरा के बस स्टैण्ड में भी मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा लोगों को कोविड टीका लगाया गया।
कोविड टीका पूरी तरह सुरक्षित, कोरोना से बचने लगवाए टीका – कोविड वैक्सीनेशन महाभियान के दौरान 15 वर्ष से अधिक उम्र के स्कूली छात्र-छात्राओं ने भी टीकाकरण स्थल पर पहुंचकर उत्साहित होकर कोविड का टीका लगवाए। रजगामार निवासी कक्षा 9 वीं की छात्रा साक्षी साहू ने जिला पुस्तकालय भवन में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर में आकार कोविड का पहला डोज लिया। उन्होने  बताया कि कोविड वैक्सीन लगवाकर अच्छा महसूस हो रहा है। कोविड टीका पूरी तरह सुरक्षित हैं। 15 वर्ष के अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना से बचने के लिए टीका लगवाना चाहिए। इसी प्रकार कोरबा शहर में ही रहने वाली कक्षा 12 वीं की छात्रा मुस्कान शर्मा ने भी कोविड वैक्सीन का डोज लेने के बाद सबको कोरोना से बचने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सुरक्षित रहने की अपील की। कक्षा 12 वीं की छात्रा निशा साहू ने कोविड टीका लगवाकर टीका लगवाने से नहीं डरने और मास्क का हमेशा उपयोग करने की अपील की।
महाभियान के दौरान पाली विकासखंड में लगे सबसे अधिक टीके- कोविड वैक्सीनेशन महाभियान के दौरान पाली विकासखंड में सबसे अधिक टीके लगाये गये। पाली विकासखंड में 13 हजार 430 लोगों का टीकाकरण किया गया । कोरबा विकासखंड में छह हजार 093, करतला विकासखंड में 10 हजार 108, शहरी क्षेत्रों में सात हजार 393 , कटघोरा में सात हजार 808 और पोंड़ीउपरोड़ा विकासखंड में छह हजार 078 लोगों को महाभियान के दौरान टीके लगाये गये।
महाअभियान के लिए 456 वैक्सीनेशन सेंटर – शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए 05 फरवरी को टीकाकरण महाअभियान के लिए जिले में 456 टीकाकरण केंद्र बनाए गए थे। इन केंद्रो पर 514 वैक्सीनेटरों द्वारा लोगों को टीका लगाया गया। करतला विकासखंड में 62 केंद्रों में 120 वैक्सीनेटरों ने लोगों को कोरोना का टीका लगाए। कटघोरा विकासखंड में 83 केंद्रों पर 83 वैक्सीनेटर, कोरबा विकासखंड में 80 केंद्रों पर 80 वैक्सीनेटर, पाली विकासखंड में 85 केंद्रों पर 85 वैक्सीनेटर, पोड़ी-उपरोड़ा विकासखंड में 46 केंद्रो पर 46 वैक्सीनेटरों को टीकाकरण के काम में लगाया गया था। शहरी क्षेत्रों में 100 केंद्र बनाए गए थे, जहां 100 वैक्सीनेटरों ने टीकाकरण की जिम्मेदारी निभाई।
Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!