कोरबा

कोविड संक्रमण को रोकने सतत निगरानी और सजगता के साथ करें काम: डॉ. टेकाम

प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने जिले में कोविड नियंत्रण के लिए की वर्चुअल समीक्षा बैठक

कलेक्टर श्रीमती साहू ने दी तैयारियों की जानकारी

कोरबा/जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले में कोविड नियंत्रण के संबंध में महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक में कलेक्टर श्रीमती रानू साहू सहित जिलास्तरीय अधिकारीगण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए। प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर से जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति और संक्रमण को रोकने में किए जा रहे उपायों-प्रयासों के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर श्रीमती साहू ने कहा कि जिला प्रशासन संक्रमण की रोकथाम के लिए सजग और गंभीर है। कलेक्टर ने बताया कि प्रशासन की ओर से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं ओैर संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। प्रभारी मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि कोविड संक्रमण के बचाव एवं उपचार के सभी काम सजगता के साथ किये जाए, जिससे लोगों को त्वरित और बेहतर सुविधा पहुंचाई जा सके। वीडियोकॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में पुलिस कप्तान भोजराम पटेल, नगर निगम आयुक्त कुलदीप शर्मा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी नूतन कंवर, प्रभारी अपर कलेक्टर सुनील नायक सहित सभी अनुविभागों के एसडीएम सहित अन्य विभागीय अधिकारी-कर्मचारी भी मौजूद रहे।

प्रभारी मंत्री ने कहा कि कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए सभी प्रकार की आर्थिक गतिविधियों का संचालन किया जाए। दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी, मुनाफाखोरी करने वालों पर कड़ी निगरानी भी रखी जाए। डॉ. टेकाम ने कहा कि कोरोना पीड़ितों के उपचार, देखभाल और जनजागरूकता के लिए जिले के स्वयं सेवी संगठनों, जनप्रतिनिधियों, सार्वजनिक कंपनियों एवं व्यापारिक संगठनों का भी सहयोग लिया जाए। प्रभारी मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि जिले में कोविड संक्रमण को रोकने सतत निगरानी रखी जाएं। कोरबा जिले में औद्योगिक गतिविधियों की अधिकता होने के कारण बाहर से आने वाले लोगों के कोरोना टेस्ट पर विशेष ध्यान दिया जाए। सीमावर्ती राज्यों और विदेशों से आने वाले लोगों की कोरोना जांच अनिवार्यतः की जाए। अस्पतालों में कोरोना मरीजों की देखभाल और उपचार के लिए तय किए गए वार्डों में चिकित्सा उपकरणों की जांच कर उन्हें दुरूस्त कर लिया जाए। अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सहित सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए। डॉ. टेकाम ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों जैसे-रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड आदि स्थानों में कोविड जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमलों को तैनात किया जाए। विदेशों से आने वाले लोगों की सूचना अनिवार्य रूप कोविड नियंत्रण कक्ष को दी जाए।


बैठक में कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति पर जिला प्रशासन सजग एवं गंभीर हैं। श्रीमती साहू ने बताया कि जिले में 15 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। अभी तक कुल आठ लाख 78 हजार से अधिक लोगों को कोरोना का पहला टीका लगाया जा चुका है। अनुमानित लक्ष्यानुसार 97 प्रतिशत लोगों का कोविड वैक्सीनेशन हो चुका हैं। उन्होंने बताया कि जिले के अस्पतालों में सभी मरीजों को उचित स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाई जा रहीं है। कोरोना के गंभीर मरीजों को कोविड अस्पताल और सामान्य लक्षण वाले मरीजों का होम आईसोलेशन में रखकर ईलाज के लिए समुचित व्यवस्था कर ली गई हैं।

बैठक में सीएमएचओ डॉ. बी. बी. बोडे  ने बताया कि कोविड अस्पताल में पर्याप्त संख्या में सामान्य बेड, ऑक्सीजीनेटेड बेड, आईसीयु बेड, एचडीयु बेड तथा वेंटिलेटर की व्यवस्था की गई है। जिले में प्रतिदिन दो हजार से अधिक संख्या में लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। किसी क्षेत्र में कोरोना संक्रमित मरीज पाए जाने पर आवश्यकतानुसार उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। सीएमएचओ ने बताया कि वर्तमान में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 257 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

मास्क लगाएं, दो गज दूरी बनाएं एवं कोविड वैक्सीनेशन कराएं : प्रभारी मंत्री डॉ. टेकाम की अपील – जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि वर्तमान का कोरोना बहुत तेजी से फैल रहा है। यह सभी उम्र के लोगों को आसानी से संक्रमित कर रहा है। डॉ. टेकाम ने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोगों को मास्क लगाने, भीड़-भाड़ जगहों में जाने से बचने के साथ कोरोना का टीका लगवाने की अपील की है। डॉ. टेकाम ने कहा कि जिला प्रशासन कोविड संक्रमण को रोकने हर संभव प्रयास कर रहा है। 15 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोविड का टीका जरूर लगवाना चाहिए। कोविड टीका लग जाने से संक्रमण का खतरा बहुत कम हो जाता हैं। वैक्सीनेशन लोगों को कोविड के कारण जान जाने के खतरे से भी बचाता हैं। प्रभारी मंत्री ने सामाजिक संगठनों एवं सार्वजनिक उपक्रमों से टीकाकरण में वालेंटियर, कोविड अस्पतालों में खाने-पीने का सामान, एम्बुलेंस, लोगों को होम आईसोलेशन का पालन करवाने में एवं कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में प्रशासन की मदद करने की अपील की।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button