कोरबा

छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा निर्धारित 22 अगस्त का अनिश्चितकालीन हड़ताल मे छ ग प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ मजबूती के साथ उतरेगा मैदान मे

 

कोरबा / छत्तीसगढ़ प्रदेश में कार्यरत पौने 5 लाख कर्मचारी अधिकारियों की लंबित महंगाई भत्ते एवं सातवें वेतनमान के अनुरूप गृह भाड़ा भत्ता को लेकर छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ की 5 अगस्त को वर्चुअल हुई कोर कमेटी की बैठक में संघ के प्रदेश अध्यक्ष केदार जैन एवं कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश बघेल द्वारा कोर कमेटी के वरिष्ठ सदस्यों को छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा निर्धारित 22 अगस्त 2022 को अनिश्चितकालीन आंदोलन में प्रमुख 2 सूत्रीय मांग केंद्रीय कर्मचारियों के समान देय तिथि से 34% महंगाई भत्ता एवं सातवें वेतनमान के अनुरूप गृह भाड़ा भत्ता को लेकर होने वाली आंदोलन पर छत्तीसगढ़ प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ के प्रदेश, जिला, तहसील, ब्लॉक के सभी पदाधिकारियों को बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने एवं हड़ताल को पूर्ण सफल एवं ऐतिहासिक बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देने हेतु हिदायत दिए गए हैं।

*पदाधिकारियों की टीम गठित कर कर्मचारी अधिकारियों से हड़ताल में शामिल होने फॉर्म भरवाए*
केदार जैन एवं ओम प्रकाश बघेल ने बैठक में पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि संघ के पदाधिकारी प्रदेश,जिला,तहसील एवं ब्लॉक पदाधिकारियों की टीम गठित कर कार्यालयों विभागों में कार्यरत कर्मचारी अधिकारियों को हड़ताल में शामिल होने छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा जारी अधिकृत आवेदन पत्र भरवाने में जुट जाएं।

*डी ए एवं एच आर ए लंबित होने पर कर्मचारी अधिकारियों को होने वाली आर्थिक क्षति को बताएं*

शासन द्वारा कर्मचारी अधिकारियों का महंगाई भत्ता एवं गृह भाड़ा भत्ता नहीं देने पर प्रत्येक माह होने वाली आर्थिक क्षति से जरूर अवगत कराएं एवं यह भी बताएं कि वर्तमान में उक्त मांगों के लिए हड़ताल नहीं किए जाने की स्थिति में क्या आने वाली कोई भी सरकार कर्मचारी एवं अधिकारियों के मूल अधिकारों एवं हक पर कुठाराघात नहीं करेगी इसलिए “*अभी नहीं तो कभी नहीं”* अतः हड़ताल में शामिल होने सभी को मानसिक रूप से प्रेरित एवं आग्रह करें।

*सभी कर्मचारी संगठनों को हड़ताल मे शामिल होने कि , की गई अपील*

छत्तीसगढ़ प्रदेश में सभी संगठित कर्मचारी संगठनों से अपील करते हुए केदार जैन एवं ओम प्रकाश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा रखी गई प्रमुख दो सूत्रीय मांग केंद्रीय कर्मचारियों के सम्मान देय तिथी से महंगाई भत्ता एवं सातवें वेतनमान के अनुरूप गृह भाड़ा भत्ता किसी एक विभाग या वर्ग के कर्मचारी अधिकारियों तक सीमित न रहकर छत्तीसगढ़ के पौने पांच लाख कर्मचारी अधिकारियों की प्रत्येक माह होने वाली आर्थिक नुकसान को लेकर यह 22 अगस्त 2022 को अनिश्चितकालीन हड़ताल आयोजित किया गया है, अतः सभी ऐसे प्रदेश में संगठित कर्मचारी संगठनों से अपील किया जाता है कि व्यक्तिगत महत्वाकांक्षाओं एवं स्वार्थों को त्याग कर प्रदेश में कार्यरत समस्त कर्मचारी अधिकारियों के सर्वहिताय की मांगों के समर्थन में सभी एकजुट होकर 22 अगस्त 2022 को होने वाली अनिश्चितकालीन आंदोलन को पूर्ण सफल एवं ऐतिहासिक बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देने जुट जाएँ ।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!