कोरबा

तेन्दूपत्ता शाखकर्तन कार्य शुरू, मार्च के मध्य तक चलेगा काम

कटघोरा वनमंडल अंतर्गत शाखकर्तन-संग्रहण प्रशिक्षण 18 फरवरी से

कोरबा/पूर्व वर्ष की भांति इस वर्ष भी शाखकर्तन का कार्य तेंदूपत्ता की अच्छी गुणवत्ता के लिये समस्त स्तर के वन अधिकारियांे- कर्मचारियों एवं प्राथमिक लघु वनोपज सहकारी समितियों के पर्यवेक्षण में किया जायेगा । इस वर्ष तेंदूपत्ता संग्रहण काल के पूर्व शाखकर्तन का कार्य संग्रहण क्षेत्रों में शुरू हो गया है। शाखकर्तन का कार्य मार्च माह के मध्य तक सम्पादित किया जाएगा। कटघोरा वनमंडल के अन्तर्गत वर्ष 2022 में 78 हजार 500 मानक बोरा तेन्दूपत्ता संग्रहण लक्ष्य रखा गया है । वनमंडल के अन्तर्गत आने वाली 44 समितियों में 39 समितियों का अग्रिम विक्रय हो चुका है। शाखकर्तन कार्य अच्छे से करने हेतु शाखकर्तन- संग्रहण कार्य का प्रशिक्षण 18 फरवरी से शुरू हो रहा हैं। परिक्षेत्र के अन्तर्गत 18 फरवरी को कटघोरा में, 21 फरवरी को मोरगा में, 25 फरवरी को पाली एवं 28 फरवरी को जटगा में किया जाना प्रस्तावित है । उक्त तेन्दूपत्ता शाखकर्तन प्रशिक्षण में वन विभाग के अधिकारी, कर्मचारी के अतिरिक्त समिति के अध्यक्ष, संचालक सदस्य, पोषक अधिकारी, प्रबंधक, फड़मंुशी, संयुक्त वन समिति के अध्यक्ष, सदस्य, सरपंच, पंच, फड़ प्रभारी, संग्राहक एवं जन प्रतिनिधि भाग लेंगे ।

प्रबंधक संचालक जिला वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कटघोरा ने बताया कि तेन्दूपत्ता संग्रहण- शाखकर्तन प्रशिक्षण के अलावा लघु वनोपज संग्रहण, शहीद महेन्द्र कर्मा बीमा योजना एवं संघ द्वारा संचालित समूह बीमा योजना के संबंध में भी जानकारी दी जाएगी । तेन्दूपत्ता संग्रहण वर्ष 2019 के बोनस राशि का भुगतान संघ रायपुर द्वारा सीधे संग्राहकों के खाते में हस्तांतरित कर दिया गया है । समितियों में सबसे अधिक बोनस पाने वाले संग्राहकों को प्रशिक्षण में प्रमाण पत्र प्रदान किया जायेगा । प्रशिक्षण में कोविड-19  के संबंध में शासन द्वारा जारी गाइडलाईन सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क उपयोग आदि का कड़ाई से पालन भी किया जायेगा ।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!