कोरबा

निजी स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कोरबा पैरेंट्स एसोसिएशन ने फिर खोला मोर्चा,

निजी पब्लिकेशन की मंहगी पुस्तकें बंद करने की मांग

NCERT की ही किताबें लागू करवाने जिला प्रशासन को सौंपा गया ज्ञापन

कोरबा/ नया शिक्षा सत्र शुरू होते ही निजी स्कूलों ने पालको को लूटने का कार्य शुरू कर दिया है। एनसीईआरटी और सीबीएसई के निर्धारित पाठ्यक्रम के विपरित जाकर निजी स्कूलों ने प्राइवेट पब्लिकेशन की सूची पालको को थमा दिया है। कमिशनखोरी के चक्कर में अभिभावकों को मजबूर किया जा रहा है कि वे तय दुकानों से मंहगी पुस्तकें खरीदें जबकि शिक्षा विभाग भारत सरकार ने 2020 में सभी स्कूलों के लिए स्कूल बैग पालिसी बनाया है जिसके अनुसार सभी कक्षाओं में पढ़ाने के लिए एनसीईआरटी का सिलेबस निर्धारित किया गया है।

मद्रास हाईकोर्ट के निर्णय के अनुसार प्रत्येक कक्षा में पुस्तक और कापी की संख्या और वजन भी निर्धारित किया गया है जिसका कडाई से पालन कराए जाने का निर्देश जारी किया गया। एनसीईआरटी और सीबीएसई के निर्धारित पाठ्यक्रम को छोड़कर कोरबा के निजी स्कूल खुद का पाठ्यक्रम चला रहे हैं जिसे हर साल बदल दिया जाता है।

इसके खिलाफ कोरबा पैरेंट्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कलेक्टर की अनुपस्थिति में एडीएम श्री सुनील नायक से मिलकर लिखित में शिकायत दर्ज कराई है ।

पैरेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष नूतन सिंह ठाकुर सचिव दीपक साहू, श्रीजीत नायर, नरेश श्रीवास, मोहन सोनी, आशीष कुमार आदि ने एडीएम श्री नायक से पूस्तके और ड्रेस बदलने से हो रही परेशानी से अवगत कराया। जिस पर श्री नायक ने पैरेंट्स एसोसिएशन की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को तुरंत जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button