कोरबा

प्लास्टिक चावल की बातें भ्रामक, पौष्टिक तत्व के कारण फोर्टिफाईड चावल चिपचिपा और लचीला

फोर्टिफाईड चावल में विटामिन, फोलिक एसिड और आयरन की सुरक्षित मात्रा, कुपोषण को हराने में कारगर

 

कोरबा/सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत लोगों को दिए जाने वाले मोटे आकार के चावल में प्लास्टिक होने की बातें भ्रामक है। कुपोषण को दूर करने फोर्टिफाईड चावल का वितरण कोरबा सहित राज्य के 10 जिलो में किया जा रहा है। जिला खाद्य अधिकारी जे.के.सिंह ने बताया कि फोर्टिफाईड चावल में स्टार्च और कार्बोहाइडेªड की निर्धारित मात्रा होने के कारण फोर्टिफाईड पके हुए चावल में चिपचिपा और लचीलापन आता है। इस चावल में प्लास्टिक होने जैसी कोई बात नहीं है। फोर्टिफाईड चावल के दाने सूक्ष्म पोषक तत्वों विटामिन बी-12, फोलिक एसिड और आयरन को सही मात्रा में मिलाकर बनाया गया है। फोर्टिफाईड चावल को सामान्य चावल में एक दाना प्रति 100 दानों के अनुपात में मिलाया जाता है। पके हुए चावल में अस्सी प्रतिशत स्टार्च होने और कार्बोहाइड्रेड की अधिक मात्रा के कारण चावल में चिपचिपापन और लचीलापन होता है। फोर्टिफाईड चावल के रखरखाव और पकाने के तरीके एवं स्वाद आम चावल के जैसे ही होते हैं। फोर्टिफाईड चावल लोगों की खुराक में आवश्यक पौष्टिक तत्वों की पूर्ति के साथ ही कुपोषण के नियंत्रण में काफी हद तक मददगार है। जिले में फोर्टिफाइड चावल के संबंध में किसी प्रकार की शंका होने पर जिले के खाद्य सुरक्षा अधिकारी, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग कोरबा, इंदिरा गाधी जिला चिकित्सालय कोरबा से सम्पर्क कर समाधान कर सकते है।

जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि कोरबा सहित राज्य के 10 आकांक्षी जिलों में सार्वजनिक वितरण प्रणाली अंतर्गत फोर्टिफाईड चावल वितरण हेतु नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा उपार्जन किया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन योजना एवं पूरक पोषण योजना हेतु फोर्टिफाईड चावल का वितरण निगम द्वारा फरवरी 2022 तक किया गया है। माह अप्रैल 2022 से सार्वजनिक वितरण प्रणाली योजना के तहत जिले के सभी शासकीय उचित मूल्य दुकानों में वितरण हेतु फोर्टिफाईड चावल का भण्डारण किया जा रहा है। जिला खाद्य अधिकारी ने फोर्टिफाईड चावल के वितरण को लेकर राशनकार्डधारियों में व्याप्त शंकाओ का समाधान  करते हुए बताया कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत उचित मूल्य दुकानों से राशनकार्डधारी हितग्राहियों को वितरीत चावल में कुछ दाने बाकी सामान्य चावल से अलग दिख रहा है। राशनकार्डधारियों को यह शंका है कि सामान्य चावल में प्लास्टिक चावल मिला है। जबकि वस्तुस्थिति यह है कि फूड सेफटी एंड स्टेंडर्ड अथोरिटी ऑफ इंडिया के निर्देशानुसार चावल मे सूक्ष्म पोषक तत्वों को सही मात्रा में मिलाया जा रहा है, जिसे फोर्टिफाईड चावल कहते है। फोर्टिफाईड चावल के दाने, पावडर एवं सूक्ष्म पोषक तत्व जैसे बी-12, फोलिक एसिड और आयरन को सही मात्रा में मिलाकर बनाया गया है।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button