कोरबा

बालको का वेदांता स्किल स्कूल फाइव स्टार प्रशिक्षण केंद्र में शामिल 

 कोरबा,11 जनवरी (ट्रैक सिटी न्यूज़) वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) क्षेत्र के युवाओं को प्रशिक्षण देने और उन्हें सशक्त बनाने में हमेशा सबसे आगे रहा है। कंपनी के कौशल विकास केंद्र ‘वेदांत स्किल स्कूल’ को भारत सरकार के अंतर्गत स्मार्ट सेंटर द्वारा 5-स्टार रेटिंग से सम्मानित किया गया। स्किल स्कूल छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) और सेक्टर स्किल काउंसिल (एसएससी) मान्यता प्राप्त केंद्र में शामिल है।

वेदांता स्किल स्कूल गरीबी रेखा से नीचे के युवाओं को स्वावलंबी बनाने की दिशा में कंपनी की ओर से प्रारंभ ऐसी संस्था है जो युवाओं को आत्मनिर्भर बन जाने का आत्मविश्वास और संबल देता है। अकुशल अथवा अर्द्धकुशल युवाओं को प्रशिक्षण और रोजगार मिलने से उनके परिवारों के जीवन स्तर में सुधार हुआ है। ऐसे युवा देश और छत्तीसगढ़ राज्य की प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

वेदांता स्किल स्कूल अपनी तरह का एक ऐसा कौशल संस्थान है जो स्थानीय युवाओं को तकनीकी शिक्षा प्रदान करता है ताकि उन्हें एक ऐसे व्यवसाय के लिए तैयार किया जा सके जो उन्हें आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने और बड़े पैमाने पर समाज के विकास को बढ़ावा दे रहा है। संस्थान प्रतिष्ठित कंपनियों में प्लेसमेंट के साथ प्रशिक्षुओं की मदद करने के साथ-साथ आतिथ्य उद्योग, वेल्डिंग, सिलाई मशीन ऑपरेटर, सोलर पीवी टेक्निशियन, इलेक्ट्रीशियन और फिटर के छह ट्रेडों में मुफ्त आवासीय प्रशिक्षण प्रदान कर रहा है। 45 से 65 दिनों के प्रशिक्षण कार्यक्रम को राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के दिशानिर्देशों के अनुसार तैयार किया गया है और देश भर के विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों में लगभग 73% प्लेसमेंट के साथ छत्तीसगढ़ के लगभग 10 हजार युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है।

बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने वेदांता स्किल स्कूल पर विचार साझा करते हुए कहा कि वेदांता समूह अपने तकनीकी एवं व्यावसायिक कौशल में सतत प्रगति के साथ ही सामुदायिक विकास कार्यक्रमों के माध्यम से अपने प्रचालन क्षेत्रों में ऐसी परियोजनाओं को प्रोत्साहित करने में विश्वास रखता है। देश के उत्तरोत्तर विकास में प्रशिक्षित युवाओं की भागीदारी महत्वपूर्ण है। कौशल विकास केंद्र के जरिए युवाओं को विभिन्न कौशलों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, वहीं प्रोजेक्ट कनेक्ट के जरिए जरूरतमंद विद्यार्थियों को निःशुल्क कोचिंग दी जा रही है। श्री पति ने कहा कि युवाओं के प्रतिभा प्रोत्साहन के लिए बालको प्रतिबद्ध है।

वेदांता स्किल स्कूल के प्रशिक्षु पूर्णेश दरवेश ने कहा कि कौशल स्कूल में दाखिला लेना मेरे जीवन के सबसे अच्छे फैसलों में से एक रहा है। मैं खाद्य और पेय कार्यक्रम में प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हुआ था। अपने परिवार को आर्थिक रूप से सहायता देने और पिता के साथ जिम्मेदारियों को साझा करने पर गर्व है।

पूर्व छात्रा संतोषी धुर्वे ने आभार जताते हुए कहा कि स्किल स्कूल ने उनके जीवन को नई दिशा दी है। आर्थिक रूप से परिवारजनों की मदद कर उन्हें गौरव की अनुभूति होती है। संस्थान ने आत्मनिर्भरता होने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

बालको आसपास के युवाओं को प्रशिक्षण देने के अलावा, संस्थान इस क्षेत्र में रोजगार दर, जीवन की गुणवत्ता, असमानताओं को कम करने और जीवन के कई अन्य पहलुओं में सुधार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!