कोरबा

रंग लाई कलेक्टर श्रीमती साहू की पहल

एक ही दिन में 34 हजार 144 लोगों का बीपी जांच एवं 34 हजार 080 लोगों का शुगर जांच किया गया

एनसीडी कैम्प में 901 बीपी और 643 शुगर के नये मरीजों की हुई पहचान

कैम्प में चिन्हांकित मरीजों की होगी मॉनिटरिंग, शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों में होगा निःशुल्क ईलाज

कोरबा/कलेक्टर रानू साहू की नागरिकों में गैर संचारी रोग बीपी और शुगर की जांच कर बीमारी बढ़ने से पहले मरीजों का ईलाज सुनिश्चित करने की पहल रंग लाई है। 30 मार्च को जिले में आयोजित एनसीडी कैम्प में 901 उच्च-निम्न ब्लड प्रेशर के नये मरीजों की पहचान हुई है। इसी प्रकार 643 शुगर वाले मरीजों की पुष्टि हुई है। कैम्प के दौरान एक ही दिन में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 34 हजार 144 लोगों की ब्लडप्रेशर की जांच की गई। इसी प्रकार कुल 34 हजार 80 लोगों में शुगर की जांच की गई। कैम्प के माध्यम से चिन्हांकित बीपी, शुगर के मरीजों की मॉनिटरिंग की जायेगी। इसके माध्यम से लोगों को बीपी, शुगर बीमारी से बचाव और ईलाज के लिए हर 15 दिन में नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर शुगर, बीपी की जांच कराने के लिए जागरूक किया गया। साथ ही मरीजों का ईलाज शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों में निःशुल्क ईलाज किया जायेगा। ज्यादातर लोग बीपी शुगर बीमारी के प्रति जागरूक नहीं होते। जिससे बीमारी बढ़ने का खतरा रहता है। कलेक्टर श्रीमती साहू ने बीमारी बढ़ने से पहले ईलाज शुरू करने के लिए 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों की बीपी शुगर की जांच कराने एनसीडी कैम्प लगाने के निर्देश दिए थे। एनसीडी कैम्प के अन्तर्गत जिले में 201 कैम्पों का आयोजन किया गया था। इनमें 901 नये और दो हजार 130 पुराने सहित कुल तीन हजार 231 उच्च-निम्न रक्तचाप के मरीज मिले। इसी प्रकार 643 नये और दो हजार 747 पुराने सहित कुल दो हजार 390 मधुमेह के रोगी मिले।

कलेक्टर श्रीमती रानू साहू के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन द्वारा जिले वासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने और गंभीर बीमारी से ग्रसित मरीजों का चिन्हांकन कर ईलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जिले में वृहद स्वास्थ्य शिविर का भी आयोजन किया जा चुका है। वृहद स्वास्थ्य शिविर के माध्यम से दस हजार से अधिक लोगों का स्वास्थ्य जांच और ईलाज किया जा चुका है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए नागरिकों को बीपी और शुगर जैसे बीमारी के प्रति जागरूकता लाने और बीमारी बढ़ने से पहले ईलाज शुरू करने के उद्देश्य से एनसीडी कैम्प का आयोजन किया गया।

सीएमएचओ डॉ.बी.बी.बोडे ने बताया कि बीपी शुगर जांच कैम्प में सर्वाधिक विकासखंड कोरबा में 8613, करतला में 405, पाली में 6111, पोंड़ी उपरोड़ा में 3071, शहरी क्षेत्र में 3918 और विकासखंण्ड कटघोरा में 3026 जांच किया गया। इस दौरान 17238 पुरूषों और 16906 महिलाओं की जांच की गई। जांच उपरांत जांच रिपोर्ट में सर्वाधिक शहरी क्षेत्र में 276 नये बीपी के मरीजों की पुष्टि हुई। इसी प्रकार विकासखंड करतला में 240, कोरबा में 132, पाली में 119, कटघोरा में 83 और विकासखंड पोंड़ीउपरोड़ा में 51 नये बीपी के मरीजों की पुष्टि हुई है। एनसीडी कैम्प में जांच के उपरांत शहरी क्षेत्र में सर्वाधिक 201 नये शुगर के मरीज मिले हैं। इसी प्रकार विकासखंड करतला में 120, कोरबा में 119, कटघोरा में 92, पाली में 87 और विकासखंड पोंड़ीउपरोड़ा में 24 शुगर के नये मरीज मिले हैं।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button