कोरबा

रेलवे बोर्ड के चेयरमेन जनप्रतिनिधियों को चकमा देकर लौट गए,

जनप्रतिनिधि गेवरा हाउस में इंतजार करते रहे

कोरबा- रेलवे बोर्ड के चेयरमेन एवं मुख्य कार्यकारी निदेशक विनय कुमार त्रिपाठी एक दिवसीय प्रवास पर कोरबा, कुसमुंडा एवं गेवरा पहुंचे थे। कोरबा में विभिन्न रेल सुविधाओं के बहाल किये जाने के साथ साथ अन्य सुझाव एवं प्रस्ताव पर चर्चा करने हेतु कांग्रेस संगठन के पदाधिकारी, कोरबा विकास समिति के पदाधिकारी, विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, प्रेस क्लब कोरबा के पदाधिकारी पहले तो कोरबा रेलवे स्टेशन में ही मिलने प्रयास किये जिस पर रेल प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा यह कहा गया कि यहॉ समय नहीं मिलेगा, गेवरा रोड स्टेशन में मिलेंगे। इस पर सभी पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि गेवरा रोड रेलवे स्टेशन पहुंचे। वहां पहुंचने पर यह बताया गया कि 12ः30 बजे गेवरा हाउस उर्जानगर में मिलेंगे। गेवरा हाउस में घंटों इंतजार के बाद डी.आर.एम. आलोक सहाय वेटिंग लाउंज में इंतजार कर रहे जनप्रतिनिधि से आकर मिले और चेयरमेन श्री त्रिपाठी से मुलाकात के विषय पर गोल-मटोल बातें करते रहें कि अभी थोड़ी देर में चेयरमेन साहब यहां आयेगें 2 मिनट के लिए आप से मिलेंगे। इस तरह डी आर एम द्वारा बातों में उलझा कर समय पास किया गया और बाद में यह बताया गया कि चेयरमैन जी. एम. के साथ रायपुर के लिए निकल गये। इतना सुनते ही उपस्थित सभी जनप्रतिनिधि एंव संगठन के पदाधिकारी ठगा हुआ महसूस करते हुए आग-बबूला हो गये।

महापौर राजकिशोर प्रसाद ने बताया कि चेयरमेन हम सबके सवालों के जवाब देने के डर से चकमा देकर वापस चले गये। कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने बताया कि केन्द्र सरकार जनता के हितो को प्राथमिकता देने की बजाए गिने चुने कार्पोरेट घरानों के हित मे काम कर रही है। सभापति श्यामसुंदर सोनी ने कहा कि रेल्वे का सबसे ज्यादा आय देने वाला कोरबा क्षेत्र की जनता को सिर्फ प्रदूषण की मार झेलना और कोयला आपूर्ति को केन्द्र बन गया है। यहां की जनता को पर्याप्त रेल सुविधाएं नही मिल रही है।

महापौर राजकिशोर प्रसाद, सभापति श्यामसुंदर सोनी, कांग्रेस जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल, ब्लॉक अध्यक्ष संतोष राठौर, एमआईसी मेम्बर अमरजीत सिंह, सुरती कुलदीप, पार्षद बसंत चन्द्रा, साहिल कुजूर, पवन गुप्ता, हरीश परसाई, कमलेश यादव, किशोर शर्मा, तनवीर अहमद सहित अनेक जनप्रतिनिधि और रेल विकास समिति के पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button