कोरबा

संभागायुक्त डॉ. अलंग ने जिला पंचायत, पीएचई, आरईएस कार्यालयों का किया औचक निरीक्षण

कोरबा/बिलासपुर संभाग आयुक्त डॉ. संजय अलंग ने आज विभिन्न शासकीय कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने जिला पंचायत, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना कार्यालयों का निरीक्षण किया। डॉ. अलंग ने पीएचई, आरर्इ्रएस एवं पीएमजेएसवाय कार्यालय में स्टॉक पंजी, कैशबुक, विभागीय दस्तावेजो, सेवा पुस्तिका आदि पंजियों का अवलोकन किया। उन्होंने बिल भुगतान का कैशबुक के माध्यम से मिलान कर इंट्रियों की जांच की। डॉ. अलंग ने अपूर्ण पाए गये पंजियों को अद्यतीकरण करने के लिए अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देशित किया। संभागायुक्त ने स्थापना शाखा में जाकर कर्मचारियांे के सेवा पुस्तिका का भी अवलोकन किया। उन्होंने सेवा पुस्तिका में नामांकन, अवकाश इंट्री एवं सत्यापन आदि के बारे में प्रभारी अधिकारी से जानकारी ली। संभाग आयुक्त ने जिला पंचायत कार्यालय निरीक्षण के दौरान एनआएलएम शाखा, मनरेगा शाखा, प्रधानमंत्री आवास योजना, लेखा शाखा एवं स्वच्छ भारत मिशन शाखा में जाकर पंजियों का अवलोकन किया। इस दौरान बिलासपुर संभाग के उपायुक्त राजस्व अखिलेश साहू, उपायुक्त विकास श्रीमती अर्चना मिश्रा, जिला पंचायत के सीईओ नूतन कंवर सहित संबंधित विभागों के अधिकारी-कर्मचारीगण मौजूद रहे।


संभागायुक्त डॉ. अलंग ने एनआरएलएम शाखा में जाकर महिला समूहों द्वारा किये जा रहे आजीविका गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंन महिला समूहों को स्वावलंबी बनाने के लिए तथा आजीविका गतिविधियों के द्वारा आर्थिक लाभ दिलाने के लिए आवश्यक ट्रेनिंग और बैंक ऋण उपलब्ध कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने समूहों को मछलीपालन, बकरीपालन, सब्जी उत्पादन आदि गतिविधियों से भी जोड़ने के निर्देश दिए। डॉ. अलंग ने वन अधिकार पट्टाधारी हितग्राहियों को एनआरएलएम के माध्यम से जोड़कर आजीविका गतिविधियों में शामिल करने के निर्देश दिए। उन्होंने समूह की महिलाओं को लाख उत्पादन के काम में संलग्न करने के लिए आवश्यक प्रशिक्षण दिलाने के लिए भी कहा। संभागायुक्त ने मनरेगा शाखा में जाकर मनरेगा के अन्तर्गत जिले में चल रहे प्रगतिरत और स्वीकृत कार्यों की जानकारी ली। साथ ही नागरिकों के मनरेगा मजदूरी भुगतान के बारे में भी पूछा। उन्होंने गौधन न्याय योजना अंतर्गत जिले में गोबर क्रय, वर्मी कम्पोस्ट निर्माण और केचुआ उत्पादन आदि की जानकारी ली।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!