कोरबा

साँप के डर से कुछ माह की बच्ची के साथ बैठी रही माँ एक जगह, सीएसईबी कालोनी का मामला

 

कोरबा/ मौसम का मिजाज़ बदलते ही लोगों के साथ जमीन में रेंगने वाले जीवों को भी प्रभावित कर रहा हैं, जहां इस समय कड़ाके के ठंड से आम जन जीवन को खासा असर पड़ रहा हैं वही जमीन में रेंगने वाले जीवों को भी इस मौसम में पड़ता हैं, कहा जाता हैं इस मौसम में अकसर जमीन पर चलने वाले साँप बिलों में जाकर बैठ जाते हैं पर कुछ दिनों से बारिश होती ही फिर ये जीव निकलने लगे हैं, और घरों में घुस रहें हैं ऐसा ही एक मामला सामने आया हैं पर जहा एक परिवार रोजाना की काम पर जगा हुआ था, सुबह का समय होने की वजह से नाश्ता खाना बनाने का समय हो रहा था जिसके लिए बच्चे वाशरूम में गए तभी उन्होने देखा एक साँप टंकी के अन्दर बैठा हुआ हैं, जिसको देख बच्चे डर से चिल्ला उठे, बच्चो को चिल्लाता देख मां आई और देखने का प्रयास किया, डरी सहमी मां तीनों बच्चो को लेकर एक जगह बैठ गई , फिर किसी तरह पति को जानकारी साप होने की सूचना दी, जिस पर बगल में रह रहे, टोप्पो मैडम ने स्नेक रेस्क्यू टीम अध्यक्ष वन विभाग सदस्य जितेंद्र सारथी को सूचना दिया, उस वक्त वो किसी बैठक में शामिल होने की वजह से कुछ देर में आने की बात कहीं, फिर कुछ देर के बाद जितेंद्र सारथी मौके पर पहुंच रेस्क्यू ऑपरेशन चालू किया, थोडी देर में ही साँप को पकड़ लेने में कामयाब हुए तब जाकर घर वालों ने राहत की सांस ली जिसके बाद घर वालों ने जितेंद्र सारथी और उनकी टीम का धन्यवाद ज्ञापित किया।

जितेंद्र सारथी ने बताया कि ये एक आम साप हैं, जो हर तरफ घूमता फिरता रहता हैं, जिसको अंग्रेजी में(Rat snake) और हिन्दी में धमना, असडिया, घोड़ा पछाड़ कहते हैं, साथ ही ये बिना जहर वाला साप हैं, हमारे लिए बेशक एक आम साप हैं पर एक आम व्यक्ति के साप कोई सा भी हो साप के नाम से ही डर जाता हैं, साथ ही ये भी कहा साप को पहचाने की कोशिश जरुर करें, नहीं तो डर से कोई बड़ी दूर घटना घट सकती हैं।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button