कोरबा

2 सूत्रीय मांगों को लेकर पांच दिवसीय हड़ताल के अंतिम दिवस फेडरेशन द्वारा महारैली निकालकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कर्मचारी अधिकारियों ने सरकार को जगाने , की सद्बुद्धि यज्ञ

 

अनिश्चितकालीन आंदोलन के लिए कर्मचारी अधिकारी रहें तैयार – के आर डहरिया

कर्मचारी संगठनों ने सरकार के खिलाफ में भरी हुंकार

कोरबा / छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन जिला इकाई कोरबा द्वारा प्रांतीय आह्वान पर 2 सूत्रीय मांगों के समर्थन में पिछले 25 जुलाई से 29 जुलाई तक पांच दिवसीय हड़ताल में तानसेन चौक आईटीआई धरना स्थल में कोरबा जिले के समस्त कर्मचारी अधिकारी डटे रहे।

29 जुलाई को प्रातः 11:00 बजे पदाधिकारियों द्वारा पूजन अर्चन कर आज की आंदोलन की शुरुआत की गई पांच दिवसीय हड़ताल के अंतिम दिवस में जिले से पधारे कर्मचारी अधिकारी एवं विभिन्न संगठन के पदाधिकारियों द्वारा हुंकार भरते हुए सरकार की भर्त्सना की गई। कर्मचारी अधिकारियों एवं फेडरेशन के पदाधिकारियों तथा 11 ब्राह्मणों द्वारा मंत्रोच्चार के माध्यम से धरना स्थल में यज्ञ आयोजित कर सरकार को सद्बुद्धि प्रदान करने आहुति दी गई। दोपहर 2:30 बजे हजारों कर्मचारी अधिकारियों की उपस्थिति में धरना स्थल से महा रैली के शक्ल में जिला कलेक्टर कोरबा के मुख्य द्वार तक नारों की गूंज के साथ सरकार के खिलाफ आक्रोश प्रकट करते हुए पहुंचे पुलिस अमले के द्वारा जिला प्रशासन के मुख्य गेट को कर्मचारी, अधिकारी प्रवेश न कर सके इस हेतु प्रवेश द्वार बंद कर दिया गया था । जिला प्रशासन की ओर से अपर कलेक्टर श्री विजेंद्र पाटले कलेक्टर कार्यालय के मुख्य द्वार तक आकर फेडरेशन के पदाधिकारी के आर डहरिया, जगदीश खरे, जे पी उपाध्याय, तरुण सिंह राठौर, एस एन शिव, ओम प्रकाश बघेल,, मनीराम मरकाम, एवं विभिन्न संगठनों के जिला अध्यक्षों की उपस्थिति में 2 सूत्रीय मांगों के समर्थन मे तथा अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने एवं रसोईया कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाने अलग अलग तीन ज्ञापन सौंपा गया।

फेडरेशन के पदाधिकारी -के आर डहरिया,जगदीश खरे, तरुण सिंह राठौर,एसएन शिव, ओम प्रकाश बघेल एवम् नित्यानंद यादव द्वारा संयुक्त रूप से प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि आज पांच दिवसीय आंदोलन के अंतिम दिवस छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन द्वारा आयोजित तृतीय चरण के आंदोलन की समाप्ति हुई है 30 जुलाई को सभी कर्मचारी अधिकारियों से अपील की गई कि अपने अपने कर्तव्य संस्थाओं में जाकर अपना कार्यभार ग्रहण करें जैसे ही प्रांतीय निकाय द्वारा चौथे चरण की आंदोलन के संबंध में सूचना प्राप्त होगी अविलंब उग्र एवं अनिश्चितकालीन आंदोलन के लिए तैयार रहें। छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय आह्वान पर पांच दिवसीय आंदोलन के दरमियान प्रदेश के आम जनता को जो असुविधा हुई उसके लिए छत्तीसगढ़ कर्मचारी कार्य फेडरेशन खेत प्रकट करती है एवं सरकार को अल्टीमेटम देती है कि अविलंब कर्मचारी के हितों को ध्यान में रखते हुए मांग पूरी करे मांग पूरी नहीं होने की स्थिति में छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी। उक्त जानकारी फेडरेशन के महासचिव तरुण सिंह राठौर एवं जिला प्रवक्ता ओम प्रकाश बघेल के द्वारा दी गई।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!