कोरबा

गोधन न्याय योजना: गोबर बेचकर लाभ कमाने का अच्छा माध्यम

ग्रामीणों को सूचना शिविर के माध्यम से जनकल्याणकारी योजनाओं की मिल रही जानकारी

 

कोरबा/ सूचना शिविर सह विकास फोटो प्रदर्शनी के माध्यम से जनहितकारी योजनाओं की जानकारी लोगों तक पहुंच रही हैं। आज विकासखण्ड पोंड़ीउपरोड़ा के ग्राम भांवर में आयोजित शिविर में ग्रामीणों को शासन की योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने का मौका मिला। आयोजित शिविर में ग्रामीणों ने गोधन न्याय योजना के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने योजना की तारीफ करते हुए कहा कि यह योजना गोबर को बेचकर आर्थिक लाभ कमाने का अच्छा माध्यम है। शासन ने गोबर जैसे चीज को खरीदकर ग्रामीणों के लिए रोजगार के नये आयाम पेश किए हैं। राज्य शासन की महत्वकांक्षी गोधन न्याय योजना ग्रामीणों के बीच खासा लोकप्रिय है। सरकार द्वारा ग्रामीणों को रोजगार के नए साधन प्रदान करने तथा वर्मी कम्पोस्ट उत्पादन करके जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए गोधन न्याय योजना की शुरूआत की गई है। ग्राम भांवर में आयोजित सूचना शिविर सह विकास फोटो प्रदर्शनी में आसपास के गांव महोरा, डोंगातराई, पंडोपारा एवं जुराली के ग्रामीणों नरेश, श्रीमती सुमित्रा बाई, देवकुमार, राधेश्याम एवं श्रीमती जुबेदा बेगम ने भी शिविर में आकर शासन की योजनाओं का अवलोकन किया। शिविर में शासन की योजनाओं की प्रचार पुस्तिका जनमन, संबल एवं किसान गाईड का भी वितरण किया गया।


शिविर में छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वकांक्षी योजना नरवा, गरवा, घुरवा और बारी के क्रियान्वयन, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, आदर्श गौठान, बिजली बिल हाफ योजना, मनरेगा, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, राम वन गमन पथ, अल्पकालीन कृषि ऋण माफ, स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग, पीडीएस, कृषि विभाग के विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं को छायाचित्र के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। 28 फरवरी को सूचना शिविर सह विकास फोटो प्रदर्शनी का आयोजन विकासखण्ड पाली के ग्राम चोढ़ा में किया जाएगा।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button