कोरबा

मातृभाषा दिवस पर गोदग्राम में दिवा शिविर आयोजित

 

कोरबा/ मातृभाषा दिवस के अवसर पर कमला नेहरू महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयंसेवकों ने गोद ग्राम पाली में दीवा शिविर का आयोजन किया। अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ मनोज सिन्हा, महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ प्रशांत बोपापुरकर के मार्गदर्शन तथा रासेयो जिला संगठक वाय के तिवारी के नेतृत्व में स्वयंसेवकों ने ग्रामीण बच्चों को हमारी मातृभाषा के मिठास, अपनत्व, महत्व के बारे में जानकारी दी तथा उसके उपयोग करने के लाभ बताए। हमारी मातृभाषा हमारी भावनाओं, विचारों तथा संवेदनाओं को समझाने तथा प्रगट करते का सशक्त माध्यम होती है मातृभाषा के द्वारा हम सभी अत्यंत सरलता और सुगमता से लोगों से जुड़ कर उनके करीब आते हैं जिसे परस्पर सहयोग, साहचर्य तथा एकता का भाव पुष्पित होता है। इसलिए हम सबको अपनी मातृभाषा के साथ अन्य भाषाओं को सीखने के प्रति उदारता का व्यवहार अपनाना चाहिए। शिविर में उपस्थित बच्चों को छत्तीसगढ़ी भाषा में रचित राज्य के राजकीय गीत अरपा पैरी के धार का सामूहिक ज्ञान करवाया गया। बच्चों को पहाड़ा के साथ ग्रामीण खेल खिलाकर पोषण आहार भी वितरित किया गया।

गांधी औषधि उद्यान में स्वयंसेवकों ने किया श्रमदान–

अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के द्वारा चयनित गोद ग्राम पाली में के एन कॉलेज की रासेयो इकाई द्वारा औषधिय उद्यान विकसित किया जा रहा है स्वयंसेवकों ने पौधों की खुदाई कर गोबर खाद तथा पानी डालकर पौधों को मजबूत करने का कार्य किया। दीवा शिविर के आयोजन में रासेयो कार्यक्रम अधिकारी जी एम उपाध्याय, प्रीति द्विवेदी ग्राम के पंच इंद्रपाल सिंह कंवर, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लीला बाई यादव, स्वयंसेवक शाश्वत शर्मा, प्रियंका यादव जयप्रकाश पटेल का सराहनीय योगदान रहा। दिवा शिविर में कल्पना कैवर्त, पायल महंत, मधु महंत विकास केवट के अलावा अन्य ग्रामवासी बच्चे उपस्थित थे।

Editor in chief | Website | + posts
Back to top button
error: Content is protected !!