कोरबा

के.एन कॉलेज में अब तक ढाई हजार छात्रों ने प्राप्त की उत्तरपुस्तिका

के.एन कॉलेज में अब तक ढाई हजार छात्रों ने प्राप्त की उत्तरपुस्तिका

 बच्चे उत्तरपुस्तिका सरलता से प्राप्त करें व घर परीक्षा की तैयारी में जुट जाएं, इसके लिए जुटा कॉलेज परिवार

कोरबा/ इस वर्ष ऑफलाइन ब्लैंडेड मोड में होने जा रही विश्वविद्यालयीन परीक्षाओं में शामिल होने तैयारी में जुटे कमला नेहरू महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को प्रक्रिया अनुसार विधिवत उत्तरपुस्तिकाओं का वितरण किया जा रहा है. भीषण गर्मी में विद्यार्थी परेशान न हों और उन्हें यथाशीघ्र उत्तरपुस्तिका जारी कर घर भेज दिया जाए, इसे लेकर कॉलेज प्रबंधन ने विशेष इंतजाम किए हैं, ताकि जल्द से जल्द बच्चे घर पहुंचकर अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए समय दे सकें।

महाविद्यालय में भूगोल विभाग के विभागाध्यक्ष अजय मिश्रा ने बताया कि कॉलेज से इस वर्ष कुल 4215 परीक्षार्थी शामिल होंगे. इनमें स्रातक प्रथम वर्ष से लेकर स्रातकोत्तर अंतिम, पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रम शामिल हैं. कॉलेज के नियमित एवं स्वाध्यायी छात्र-छात्राएं शामिल हैं. कमला नेहरू महाविद्यालय से पहले दिन 1212 उत्तरपुस्तिकाओं का वितरण किया गया और मंगलवार को दूसरे दिन की समाप्ति तक ढाई हजार से अधिक छात्र-छात्राओं ने अपनी उत्तरपुस्तिकाएं प्राप्त कर ली हैं. स्रातक प्रथम, द्वितीय तृतीय एवं पीजी समेत कॉलेज में सभी संकाय-विषय मिलाकर 39 कक्षाएं संचालित हैं, जिनके परीक्षार्थियों को अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय से प्राप्त दिशा-निर्देश के अनुसार सरल एवं सुविधाजनक रूप से उत्तरपुस्तिकाएं आवंटित करने 16 कक्ष में व्यवस्था की गई है. यहां भूगोल विभाग के विभागाध्यक्ष अजय मिश्रा के मार्गदर्शन में कॉलेज के प्राध्यापक एवं सहायक प्राध्यापकों के माध्यम से वितरण किया जा रहा है. उत्तरपुस्तिका प्राप्त करने प्रवेश पत्र एवं अन्य आवश्यक दस्तावेजों की भी जानकारी परीक्षार्थियों को प्रदान की जा रही है. कॉलेज के सहायक प्राध्यापक वायके तिवारी ने बताया कि परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए कक्ष निर्धारित कर दिए गए हैं और वहां सेवा प्रदान कर रहे प्राध्यापक-सहायक प्राध्यापकों के द्वारा उत्तरपुस्तिकाओं का वितरण विधिवत किया जा रहा है. जहां बड़ी या अधिक संख्या वाले छात्रों की कक्षा है, वहां दो काउंटर बना दिए गए हैं, ताकि विद्यार्थियों को सहूलियत हो. श्री तिवारी ने कहा कि इसी प्रकार लिखित उत्तरपुस्तिकाएं जमा करते समय भी हर संभव व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी.

बच्चे तनाव मुक्त रहें और परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन करें
कमला नेहरू महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. प्रशांत बोपापुरकर ने बताया कि अटल विश्वविद्यालय की गाइडलाइन अनुरूप सारी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं. किसी भी परीक्षार्थी को कतार में खड़े होकर कड़ी धूप व गर्मी में परेशान होने की आवश्यकता नहीं. उनके लिए विधिवत रूप से विभिन्न कक्ष में पर्याप्त बैठक व्यवस्था, पीने के लिए शुद्ध पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराई गई है. प्रवेश करते ही परिसर में सूचना बोर्ड के माध्यम से उन्हें जानकारी दी जा रही कि संबंधित विषय व कक्षा की उत्तरपुस्तिकाएं वितरित करने किस कक्ष क्रमांक में व्यवस्था की गई है. इसके अलावा महाविद्यालयीन स्टाफ भी कक्ष तक पहुंंचने लगातार उनकी सहायता में जुटे हैं. इस बात का विशेष ध्यान रखा जा रहा कि कोई भी परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिका प्राप्त करने परिसर में न भटके. डॉ बोपापुरकर ने विद्यार्थियों से कहा कि वे तनाव मुक्त रहकर उत्तरपुस्तिका प्राप्त करें, घर जाकर तैयारी में जुट जाएं और अच्छे अंक लेकर परीक्षा पास करें.

क्या कहते हैं परीक्षार्थी
इस समय एक-एक मिनट काफी कीमती


बीए प्रथम वर्ष की छात्रा जया पांडेय ने कहा कि आॅनलाइन ही सही, पर परीक्षा की तैयारी तो करनी ही होगी. इसलिए जितना ज्यादा समय हो सके, घर में रहकर पढ़ने की जरूरत है. इस समय एक-एक मिनट काफी कीमती है. इसलिए विद्यार्थियों के लिए जितनी जल्दी हो सके उत्तरपुस्तिकाएं प्राप्त करना जरूरी है. यहां सब इंतजाम ठीक थे. उत्तरपुस्तिकाएं प्राप्त करने हमें कोई परेशानी नहीं हुई.

कोई परेशानी नहीं हुई, अब घर जाकर पढ़ना है- खुशी राजपूत
बीए प्रथम की छात्रा वर्ष खुशी राजपूत ने बताया कि परीक्षा शुरू होने में अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं. ऐसे में बस जल्दी से उत्तरपुस्तिका लेकर घर पहुंच जाना चाहती हूं. केएन कॉलेज में अलग-अलग कक्ष में सभी छात्र-छात्राओं को उत्तरपुस्तिका वितरण करने की सुगम व्यवस्थाएं उपलब्ध हैं, जिससे कोई परेशानी नहीं हुई. अब घर जाकर पढ़ाई करना है.

परीक्षा के समय धूप से बचकर रहना जरूरी-विकास यादव
बीए प्रथम वर्ष के छात्र विकास यादव ने बताया कि इतनी धूप और गर्मी में भटकना पड़े, तो तबियत खराब हो सकती है, जो परीक्षा के समय काफी नुकसानदायक हो सकता है. यहां आने पर निर्धारित कक्ष में कतार लगाकर परेशान होने की बजाय आराम से कक्ष में बैठने की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी, जिससे यहां-वहां भटकने की बजाय आसानी व सुगमता से उत्तरपुस्तिकाएं मिल गर्इं.

चिंता हो रही थी, कॉलेज पहुंचकर राहत मिली- रुबीना तरन्नुम
बीलिब की छात्रा रुबीना तरन्नुम ने कहा कि इतनी गर्मी व धूप में घर निकलने से हर कोई बच रहा है, लेकिन उत्तरपुस्तिकाएं प्राप्त करना भी जरूरी है. घर से निकलते समय चिंता हो रही थी कि वहां भीड़ में परेशान होना पड़ेगा, पर केएन कॉलेज में पानी व छांव में वितरण समेत हर व्यवस्था मौजूद है, जिससे कोई परेशानी नहीं हुई.

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button