कोरबा

जिला कांग्रेस कार्यालय कोरबा में झीरम घाटी घटना में शहीद हुए कांग्रेस नेताओं को याद करते हुए दी गई श्रद्धांजलि ।

कोरबा:- जिला कांग्रेस कमेटी कोरबा ने टी पी नगर स्थित जिला कांग्रेस कार्यालय कोरबा में झीरम घाटी घटना में शहीद हुए कांग्रेस नेताओं को याद करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कहा झीरम घाटी घटना में हमने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को हमेशा के लिए खो दिया। उनकी शहादत से जो स्थान रिक्त हुआ है उसकी भरपाई मुश्किल है। उन्होने कहा कि नक्सल विचारधारा का अंत होना ही छत्तीसगढ़ के हित में है। 25 मई 2013 को हुई घटना ने छत्तीसगढ़ सहित पुरे भारत को हिलाकर रख दिया था।
सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत ने झीरम हादसे को आजाद भारत की सबसे बड़ी वारदात बताया जिसमें तत्कालिन प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नंद कुमार पटेल, महेन्द्र कर्मा, विद्याचरण शुक्ल, उदय मुदलियार, दिनेश पटेल, योगेन्द्र शर्मा सहित अन्य कांग्रेस नेता व सुरक्षा कर्मी शहीद हो गये। इस घटना ने राज्य की भाजपा सरकार की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी थी। महापौर राजकिशोर प्रसाद ने कहा झीरम घटना भाजपा के साजिश का हिस्सा था तत्कालिन प्रदेश सरकार द्वारा इस घटना की जॉच नही कराने के कारण कई प्रकार के सवाल खड़े होने स्वाभाविक था। जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुरेन्द्र प्रताप जायसवाल ने कहा कि आठ वर्ष पहले जब यह घटना हुई, कांग्रेस के पक्ष में सकारात्मक वातावरण बन रहा था। संभावित नतीजों के जानकार इस तरह का जाल बुना गया जिससे छत्तीसगढ़ की राजनीति दागदार हो गई। आजाद भारत के इतिहास में यह सबसे बड़ा माओवादी हमला था और राजनेताओं की हत्या की दृष्टि से भी यह सबसे बड़ा था।
सभापति श्यामसुंदर सोनी का कहना था कि कांग्रेस नेताओं की शहादत कभी भी व्यर्थ नही जाएगी और इसके परिणाम नए सूर्योदय के रूप में सामने आएंगे। छ.ग. में शांती और सुरक्षा के साथ खुशहाल होगी। ब्लॉक अध्यक्ष संतोष राठौर ने कहा कि नक्सलियों की गोलियों ने उन परिवारों को अनाथ कर दिया जिनके चेहरे देखकर बच्चे विश्वास के साथ बड़े हो रहे थे। उन शहीदों के सपनों को पुरा करने का हम सब का कर्तव्य है। वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री श्रीमती उषा तिवारी ने कहा कि झीरम घाटी की घटना को 09 साल हो गये लेकिन आज भी इस घटना को हम नही भुल पाए और कभी भूल भी नही पाएंगे। वरिष्ठ कांग्रेस नेता हरीश परसाई ने कहा कि झीरम घाटी की घटना में नक्सलियों ने जो तांडव मचाया जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ कुल 32 लोग शहीद हुए। इस काले दिन को छत्तीसगढ़ के वासी कभी नही भुल सकते।
कार्यक्रम के प्रारंभ में शहीद नेताओं को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीद नेताओं के तैलचित्र पर माल्यार्पण किया गया तत्पश्चात् शहीद नेताओं की याद में दो मिनट का मौन रखकर उन्हे श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष कुसुम द्विवेदी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता श्रीकांत बुधिया, विजय खेत्रपाल, सत्येन्द्र वासन, लक्ष्मी नारायण देवांगन, भुनेश्वर राज, अवधेश सिंह ठाकुर, बी.के. मिश्रा, मुखर्जी दादा, राजेन्द्र तिवारी, विनोद अग्रवाल, रामगोपाल यादव, पार्षद दिनेश सोनी, रवि सिंह चंदेल, अनुज जायसवाल, एल्डरमेन एस. मुर्ति, सुकल महंत आदि ने झीरम घाटी घटना में शहिद हुए कांग्रेस नेताओं को श्रद्धांजली दी।

Editor in chief | Website | + posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button